,

यू.पी : दलित गर्भवती महिला की पीट-पीट कर किसने और क्यों कि हत्या? कारण सुन कर रह जाएगी दंग ।

यूपी से एक ऐसी वारदात सामने आई है, जिसे सुनकर आप दंग रह जाएंगे, यहाँ एक ऊँची जात की महिला और उसके बेटे ने गर्भवती दलित महिला की इतनी बेरहमी से पिटाई की जिससे उसकी मौत हो गई, उस दलित महिला का कसूर बस इतना था कि उसने गलती से ऊँची जात की महिला की पानी की बाल्टी को छू लिया था ।

यह पूरी वारदात उत्तर प्रदेश के बुलंदसर जिले के खेतालपुर बन्सोली गाँव की हैं, जहाँ 34 वर्षीय दलित महिला सावित्री देवी गाँव के लोगो के घर से कूड़ा कचड़ा उठाने का काम करती थी, वही उसका पति दिलीप मेहनत मजदूरी का काम कर के घर का खर्चा चलाता था, मृतक महिला की गलती बस इतनी थी कि उसने गाँव की ठाकुर महिला अंजू देवी की पानी बाल्टी को छू लिया था, इसके बाद अंजू देवी ने अपना आपा खो दिया, और लगातार गर्भवती दलित महिला के पेट पर मुक्को से मारना शुरू कर दिया, यहाँ तक कि सावित्री देवी का सर भी दिवार में दे मारा, यह देख कर अंजू देवी का बेटा रोहित भी वहां आ गया और दोनों ने मिलकर गर्भवती महिला को बेरहमी से मारने लगे, इस वारदात के दौरान पीड़ित महिला कि 9 साल की बच्ची भी वहां मौजूद थी ।

ऊँची जात की महिला अंजू देवी और उसके बेटे रोहित के हमले के बाद पीड़ित महिला का पति दिलीप कुमार उसे पास के अस्पताल ले गया,सावित्री के शरीर पर बाहर से कोई भी चोट के निशान नहीं थे, इस कारण डॉक्टरो ने सावित्री को देखने से मना कर दिया, इस बिच सावित्री पेट में दर्द होने की शिकायत कर रही, परन्तु डॉक्टरों ने उसके ओर कोई ध्यान नहीं दिया ।

वारदात के 6 दिन बाद सावित्री की तबियत बिगड़ गई, जब सावित्री का पति उसे अस्पताल ले गया तो डॉक्टरो ने सावित्री को मृत घोषित कर दिया, सावित्री 8 महीने से ज्यादा की गर्भवती थी, ठाकुर महिला और उसके बेटे के हमले के कारण उसे कई अंदरूनी चोट आई थी जिससे उसकी मोत हो गई ।

महिला की मौत के बाद पुलिस ने ठाकुर महिला और उसके बेटे के खिलाफ मालम दर्ज कर दोनों आरोपियों को हिरासत में ले लिया है और उन पर IPC की धारा 304 A, 316 और ST/SC प्रावधान के तहत केस चलाया जा रहा हैं ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

गर्ल्स हॉस्टल में लड़किया क्या क्या करती है ?