कोरोना वायरस की वजह से विश्व के नेता भारतिय संस्कृति अपनाते हुए।

0
380

चाईना से शुरुआत हुए कोविड-19 वायरस के कारण आज पूरा विश्व कोरोना वायरस नामक बीमारी से प्रभावित हुआ है। आज की तारीख में पूरी दुनिया में से 13597 इंसानों की मौत हो चुकी है। आप कोरोना वायरस से ग्रसित इंसानों की लाईव जानकारी https://www.worldometers.info/coronavirus/ वेबसाइट पर देख सकते हैं। भारत भी इस बीमारी से अछुता नहीं है और आज की तारीख में भारत में कुल 360 मामले सामने आए हैं जिसमें से 24 मामलो पर काबू पाया जा चुका है और 329 मामले सक्रिय हैं एवं 07 की मौत हो चूकि है।
जैसा की आप सभी लोग जानते हैं की कोरोनावायरस का संक्रमण आपस में बात करने या फिर संक्रमित व्यक्ति के करीब जाने से फैलता है। ऐसे में दुनिया के बड़े बड़े नेता आपस में अभिनंदन हाथ मिलने के बजाए नमस्ते करते नजर आए।
जानते हैं की दुनिया के किन बड़े नेताओं ने आपस में नमस्ते करके अभिनंदन किया.
1. संयुक्त राज्य अमेरिका के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने गुरुवार को आइयर्लॅंड के प्रधानमंत्री से मुलाकात की जिस दौरान उन्होने आइयर्लॅंड के प्रधानमंत्री लियो वराडकर से मुलाकात नमस्ते करके की, इस मुलाकात में उन्होने आइयर्लॅंड के प्रधानमंत्री को यह भी बताया की हाल ही में उन्होने भारत की यात्रा की है जहां लोग आपस में अभिनंदन हाथ मिलाने की वजाय हाथ जोड़कर नमस्ते से करते हैं।2. 11 मार्च को लंडन के पैलेडियम में आयोजित प्रिन्स ट्रस्ट अवाॅर्ड को संबोधित करने के लिए ब्रिटन के प्रिन्स चाल्र्स वहाँ पर पहुँचे जिस दौरान उन्होने लोगों का अभिवादन नमस्ते करके किया जिसकी तस्वीर सोशल मीडीया पर काफी वायरल हो रही है जिसको काफी लोगों ने बहुत ही सहारा है।3. हाल ही में जर्मनी की चांसलर एंजेला मार्कल ने पुर्तगाल के प्रधानमंत्री एंटोनीयो कोस्टा के साथ मुलाकात की है जिस दौरान उन्होने नमस्ते करके संबोधित किया और और एक फोटो भी क्लिक करवाई।4. वही फ्रॅन्स के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रो ने बुधवार को स्पेन के किंग फेलिप का स्वागत नमस्कार कर के किया वही उनकी पत्नी ब्रिगित मैक्रो ने स्पेन की रानी लेटिजिया का स्वागत फ्लाइंग किस करें किया।5. इजराइल के राष्ट्रपति बेंजामिन नेतन्याहू याहू ने अपने भाषण के दौरान अपनी जनता को संबोधित नमस्ते करके किया एवंम उन्होने बताया की हमें भारत की सभ्यता और संस्कृति के मुताबित हाथ जोड़कर नमस्ते करने की आवश्यकता है जिससे दुनिया में फैल रहे कोरोणवीरस बीमारी से बचा जा सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here